ArhamFamily

अर्हम् र्फॅमिली

परिचय

प्रत्येक योनि में सर्दी-गर्मी से रक्षा करने, आश्रय स्थान की ज़रुरत होती है। जैसे पशु-पक्षी अपने घोंसले-गुफा आदि बनाकर रहते हैं, उसी प्रकार मनुष्य को भी स्वयं के घर की चाहत होती है। केवल चार दीवारों और एक छत से घर नहीं बन जाता है। घर बनाने के लिए श्रद्धारूपी नींव मजबूत चाहिए, तभी परिवार में पारिवारिकता आ सकती है। हर घर को मंदिर बनाने की दृष्टि से यह अभियान आरम्भ किया गया है। परम पूज्य ऋषि प्रवीण जी द्वारा हर परिवार को जागृति का सन्देश देकर जनजागरण का महत्प्रयास किया जा रहा है। बाल-युवाऔर वृद्धों में जो जनरेशन गैप है उस गैप को भरकर समन्वय प्रतिस्थापित करने, घर के सभी सदस्यों क एकत्र कर विचार-विमर्श कर घर में श्रद्धा-स्नेह-शांति का मधुर वातावरण निर्मित करने के लिए आर्ट ऑफ़ फॅमिली लाइफ अभियान आरम्भ किया गया है।

उद्देश्य:

इन अभियान का पवित्र उद्देश्य है – कुटुंब संस्था जो आज टूटती-बिखरती नज़र आ रही है, उसे पूर्व का वैभव प्राप्त कराना। घरवालों में जो संवाद-शून्यता बढ़ रही है, जो जनरेशन गैप है, उसे भरना। हर घर में श्रद्धा-स्नेह-शान्ति का वातावरण निर्मित करना। घर मंदिर बन जाएगा। परिवार के सदस्यों में आपस में श्रद्धापूर्ण सम्बन्ध बन जाएंगे। बड़ों को आदर और छोटों को प्यार मिलेगा।